blogid : 12846 postid : 760622

एक महिला जिसने दुनिया को तो जीना सिखा दिया लेकिन उसके दर्द को सुनकर किसी की भी रूह कांप जाएगी

Posted On: 2 Jul, 2014 Others में

स्त्री दर्पणWomen Development and Empowerment

Women Empowerment

86 Posts

100 Comments


पंख ही काफ़ी नहीं हैं आसमानों के लिए,

हौसला भी चाहिए ऊंची उड़ानों के लिए।


अपनी जिंदगी में आपने ऐसी ढ़ेरों दास्तानें सुनी होंगी जिनका प्रभाव आपके चरित्र पर जरूर पड़ा होगा. यही नहीं, आप ऐसी ही दास्तानों से प्रेरित होकर जीवन की हर कठिनाइयों से निजात भी पाते आए होंगे. लेकिन आज हम आपको जो कहानी बताने जा रहे हैं वह उन घटनाओं से बहुत अलग हैं जिन्हें अब तक आप सुनते आए हैं.



image01 (2)



यह कहानी एक महिला की है जो ऑस्ट्रेलिया के एक शहर में रहती हैं. टुरिया पिट नाम की यह महिला पार्ट टाइम मॉडल हुआ करती थीं, अन्य खूबसूरत महिलाओं की तरह इनके भी बड़े-बड़े सपने थे. टुरिया एक इंजीनियर भी हैं जिन्हें वर्ष 2007 में हुई एक प्रतियोगिता में मिस अर्थ ऑस्ट्रेलिया के खिताब से भी नवाजा जा चुका है.



image021


टुरिया पिट के जीवन में सबकुछ अच्छा चल रहा था, वह अपने पार्टनर मिशेल हॉस्किन के साथ खुशी–खुशी अपनी जिंदगी बिता रही थी कि अचानक एक घटना ने उनकी पूरी जिंदगी को ही बदल ड़ाला. तीन साल पहले, वर्ष 2011 में पश्चिम ऑस्ट्रेलिया के किंबरली में मैराथन दौड़ में भाग लेते समय अचानक टुरिया पिट घने जंगलों के बीचों बीच फंस गईं, जंगल में आग कब लग गई टुरिया को पता नहीं चला. 26 साल की टुरिया पिट जंगल की भयंकर आग से 64 फीसदी तक जल चुकी थीं.


Read: अपनी भूख मिटाने के लिए वह किसी को भी निगल सकता है, सावधान!


image041



लगभग पूरा शरीर जलने के बावजूद भी टुरिया पिट जिंदा रहीं लेकिन इस बीच उसे 864 दिन अस्पताल में बिताने पड़े. करीब 100 सर्जरी के बाद जब टुरिया पिट अस्पताल से बाहर आईं तो उन्होंने अपने दाएं हाथ की लगभग सारी अंगुलियों को खो दिया था, चेहरा बिलकुल खराब हो चुका था और पैर भी सही सलामत नहीं थे.



image061

इतना सब हो जाने के बाद किसी इंसान के लिए जिंदगी बिताना बहुत ज्यादा कठिन हो जाता है लेकिन टुरिया पिट के साथ ऐसा नहीं हुआ. उन्होंने अपनी इस कमजोरी को हौसला बनाया और उन करोड़ों लोगों के लिए, खासकर महिलाओं के लिए, मिसाल बनीं जो इस तरह की घटना के बाद टूट जाती हैं.


Read: इंसान को हैवान बनते देर नहीं लगती



image081



शरीर के कई अंग खोने के बावजूद भी टुरिया पिट ने अपनी टीम के साथ मिलकर करीब 95 किलोमीटर तक ग्रेट वाल ऑफ चाइना की पैदल यात्रा की और अपनी चैरिटी के लिए 2 लाख डॉलर भी जुटाए. उनकी यह चैरिटी विभिन्न देशों में आग से झुलसे मरीजों की सर्जरी में सहायता करती है.


image071



टुरिया पिट के इसी हौसले को देखते हुए ‘ऑस्ट्रेलिया वीमेन वीकली’ ने इस महीने अपनी मैगजीन के कवर पेज पर स्थान देकर उन्हें बहुत बड़ा सम्मान दिया है. जिसे पाकर टुरिया गदगद हैं. मैगजीन के कवर पेज पर टुरिया की फोटो देखकर यही लगता है कि इतना सब हो जाने के बाद भी टुरिया के चेहरे पर थोड़ी भी शिकन नहीं है. वह आज भी आत्मविश्वास से ओतप्रोत है.


Read more:

इस बहादुर महिला ने ऐसा क्या कर दिया जिससे पूरा देश उसे सलामी दे रहा है

एक अविश्वसनीय बच्चे के जन्म पर पूरी दुनिया में बहस छिड़ गई है

मां की लापरवाही कैसे ले सकती है बच्चे की जान


Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग