blogid : 14887 postid : 1184280

पेरिस के नीचे बसा है मुर्दों का शहर, आम लोगों की एंट्री है बैन

Posted On: 31 May, 2016 Others में

International Affairsदुनिया की हर हलचल पर गहरी नज़र

World Focus

94 Posts

5 Comments

फ्रांस की राजधानी पेरिस अपनी खूबसूरती और रोमांटिक जगहों के लिए दुनिया भर में मशहूर है. लेकिन क्या आप जानते हैं कि पेरिस की सड़के के नीचे एक दूसरा शहर भी बसता है- यह शहर है मुर्दों का. पेरिस के सड़को के नीचे बने सैकड़ों मील लंबे तहखानों में लाखों इंसानों की खोपड़ियां और हड्डियों को करीने से सजाया गया है. इस तरह यह तहखाना दुनिया का सबसे बड़ा कब्रगाह बन जाता है. एक ऐसा कब्रगाह जो दुनिया के नजरों से ओझल है.


pic258


सड़कों के नीचे इन तहखानों को जिन्हें कैटाकॉम्ब कहा जाता है, 12वीं शताब्दी में खोंदी गई थी. पहले यह चूना पत्थर की खदाने हुआ करती थीं. कंकालों के इस तहखाने में वैसे तो पर्यटकों के लिए जाने की खातिर एक ही वैध रास्ता है लेकिन कई एडवेंचर के शौकीन पर्यटकों ने इसमें प्रवेश के अनगिनत रास्ते खोज निकालें हैं.


इन तहखानों में कंकालों को रखने का काम 18वीं शताब्दी में किया गया. इसकी वजह थी शहर के कब्रगाहों में मुर्दों की भीड़ बढ़ जाना. कब्रगाहों में मुर्दों की भीड़ इतनी बढ़ गई थी कि हड्डियां लोगों के घरों की दीवारों में नजर आने लगी थी. इस वजह से शहर में स्वास्थ संबंधी कई समस्याएं खड़ी होने लगी. 1780 के दशक में लाखों इंसानों के अवशेष इन तहखानों में ट्रांसफर कर दिए गए. आज इन तहखानों में करीब 60 लाख इंसानों के अवशेष हैं.


हालांकि वैध तरीके से इन तहखानों के केवल कुछ हिस्से ही पर्यटकों के लिए खुले हैं लेकिन ऐसे कई जोखिम उठाने के शौकीन लोग हैं जो रात के अंधेरे में गुप्त द्वारों से इन तहखानों में प्रवेश करते हैं और इसमें नए-नए रास्ते खोजते हैं. 2004 में बीबीसी की एक खबर के मुताबिक पुलिस ने इस तहखाने में एक मूवी थियेटर खोजा था.


यहां एक ‘बार’ भी मौजूद था जिसमें कई प्रकार के व्हिस्की रखी हुई थी. ऐसा माना जाता है कि इस थियेटर को वे जोखिम प्रेमी संचालित करते थे जो अनाधिकारिक तरीके से इन तहखानों में प्रवेश किया करते हैं.


इस जगह की सुरक्षा के लिए उन्होंने सीसीटीवी कैमरे भी लगा रखे थे. यहां से कई 50 और 60 के दशक के फिल्मों के कैसेट भी मिले थे. वैसे अगर कोई इन गुफाओं में अनाधिकारिक रूप से घूमता पकड़ा जाता है तो उसे 60 यूरो का जुर्माना चुकाना पड़ता है…Next


read more:

1,000 फीट की ऊँचाई पर मिले नर कंकालों का क्या है राज

मरते-मरते भी विकेट दिला गया यह भारतीय क्रिकेटर

अंग्रेज़ों के कारण अब तक पुजारी भक्तों के सिर पर फोड़ते हैं यहाँ नारियल


Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग