blogid : 14266 postid : 1304756

आज मुर्दा हो गया

Posted On: 4 Jan, 2017 Others में

छोटी छोटी सी बातेJust another weblog

yatindrapandey

49 Posts

191 Comments

मेरी रूह का शहर
आज मुर्दा हो गया,
जिसे सुकून की नमाज़ माना ,
वो ऊदु बन गया ,
एक पाकीज़ा दिल का धड़कना,
आज बंद सा हो गया,
दो जिस्मों का एक साया,
आज बिखर कर टूट गया ,
जलाकर तसल्ली खुदकी,
अब मैं रहनुमा बन गया ,
मेरी रूह का शहर ,
आज मुर्दा हो गया ।

यतींद्र

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading...
  • Facebook
  • SocialTwist Tell-a-Friend

अन्य ब्लॉग